हिंद-प्रशांत के संदर्भ में दक्षिण एशियाः रीजनल कनेक्टिविटी कान्फ्रेंस में केनेथ आई. जस्टर का वक्तव्य

परिचय

विशिष्ट अतिथि, देवियों और सज्जनों – रीनल कनेक्टिविटी के महत्वपूर्ण विषय पर इस कान्फ्रेस में हमारे साथ शामिल होने के लिए आपका धन्यवाद। आज के कार्यक्रम को आयोजित करने में कड़ी मेहनत के लिए सीयूटीएस, एफआईसीसीआई तथा ईस्ट-वेस्टर सेंटर को भी धन्यवाद।

जैसा कि हम जानते हैं, अन्य चीजों के साथ-साथ परिवहन, संचार और वित्त में प्रौद्योगिकीय परिवर्तन से पिछले कुछ दशकों के अंतर्गत वैश्विक अर्थव्यवस्था में तेजी से वृद्धि हुई है। हम लोगों के प्रवाह, पूंजी, वस्तुओं, सेवाओं, और हमारे कल्याण और समृद्धि यहां तक कि हमारी सुरक्षा पर भारी प्रभाव देख रहे हैं। कनेक्टिविटी इस प्रकार हमारे जीवन और हमारी अर्थव्यवस्थाओं की रीढ़ बन गई है।

और पढ़ें…