व्यापार व आर्थिक सहयोग

सेक्रेटरी केरी ने 31 जुलाई, 2014 को भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ नई दिल्ली में पांचवें अमेरिका-भारत रणनीतिक डायलॉग की सहअध्यक्षता की। सेक्रेटरी केरी के साथ अमेरिकी कॉमर्स सेक्रेटरी पेन्नी प्रिट्जकर थीं और ऊर्जा, होमलैंड सिक्यूरिटी, और नासा अमेरिकी एजेंसियों के अधिकारी शामिल थे। द्विपक्षीय और क्षेत्री मुद्दों पर बातचीत में अमेरिकी-भारत आर्थिक संबंध, आतंकरोधी प्रयास, क्षेत्रीय सुरक्षा योजनाएं, लोगों के बीच संबंध, और रणनीतिक साझेदारी के अन्य पक्ष शामिल थे। नई सरकार के चुने जाने के बाद नई दिल्ली का पहला कैबिनेट स्तर का दौरा था, और इसमें अमेरिका-भारत रिश्ते के रणनीतिक महत्व पर बल दिया गया।

व्यापार और आर्थिक सहयोग कार्यसमूह बिजनेस, व्यापार और खाद्य सुरक्षा पर हमारी बातचीत को मजबूत बनाने के लिए कार्य जारी रखेगा। यहां पर दोनों सरकारों के बीच कुछ क्रियाकलापों को दिया गया है जो व्यापार और आर्थिक सहयोग को बढ़ावा दे रहे हैं।

राजदूत रिचर्ड आर. वर्मा अटलांटिक काउंसिल यू.एस. इंडिया ट्रेड इनीशिएटिव वर्कशॉपः अमेरिका/भारत व्यापार नई ऊंचाइयों पर 27 जून, 2016
दोनों सरकारों ने अधिक आर्थिक विकास और निवेश के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

फैक्ट शीटः अमेरिका-भारत आर्थिक सहयोग और लोगों के बीच संबंध, 7 जून, 2016
दोनों सरकारें वर्तमान सहयोग और प्रयासों विस्तार जारी रखेंगे इसके साथ-साथ परस्पर आर्थिक समृद्धि लाने के लिए नई योजनाओं को शुरू करना तथा वैश्विक चुनौतियों से निपटने के लिए सहयोग जारी रखेंगे।

राजदूत वर्मा ने अमेरिकन चैंबर ऑफ कॉमर्स की वार्षिक जनरल मीटिंग में भाग लिया, 22 अप्रैल, 2016
आर्थिक विकास, बुनियादी ढांचे की बाधाओं को दूर करने, व्यापार वृद्धि, और भारतीय नागरिकों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने हेतु स्मार्ट सिटीज को हम बड़े अवसर देख रहे हैं।

राजदूत वर्मा ने फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्टर (एफआईईओ), में भाग लिया, 11 फरवरी, 2016
तमाम अनिश्चितताओं के बीच भारत न केवल ब्रिक्स में नेतृत्व कर रहा है, बल्कि दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के आर्थिक विकास का भी नेतृत्व कर रहा है।