ऊर्जा व जलवायु परिवर्तन

31 जुलाई, 2014 को अमेरिका की सेक्रेटरी केरी ने भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ नई दिल्ली में पांचवें भारत-अमेरिका रणनीतिक डायलॉग की सहअध्यक्षता की। सेक्रेटरी केरी के साथ अमेरिकी कॉमर्स सेक्रेटरी पेन्नी प्रिट्जकर और अमेरिकी एजेंसियों जिसमें ऊर्जा विभाग, होमलैंड सिक्यूरिटी, और नासा के अधिकारी भी शामिल थे। द्विपक्षीय व क्षेत्रीय मुद्दों पर बातचीत में अन्य पहलु सहित भारत-अमेरिकी आर्थिक संबंध, आतंकरोधी प्रयास, क्षेत्रीय सुरक्षा योजनाओं, लोगों में परस्पर आपसी संबंध, और रणनीतिक सहयोग शामिल है। यह भारत की नई सरकार के चुने जाने के बाद पहला अमेरिकी कैबिनेट-स्तर का दौरा था, और यह भारत-अमेरिकी संबंधों के रणनीतिक  महत्व को रेखांकित करता है।

ऊर्जा और जलवायु परिवर्तन कार्य समूह हमारी सफल ऊर्जा वार्ता को जारी रखेंगे और वैश्विक जलवायु परिवर्तन की चुनौती से निपटने के लिए कार्यवाही पर विचार विमर्श शुरू करेंगे। यहां दोनों देशों की सरकारों के बीच की ऐसी कुछ गतिविधियां हैं जो ऊर्जा और जलवायु परिवर्तन के सहयोग को आगे बढ़ा रही हैं।