अमेरिकी वाणिज्य दूतावास कोलकाता

दुनिया में सबसे पुराने और भारत के पहले अमेरिकी कांसुलेट के रूप में कोलकाता का अमेरिकी राजनय के इतिहास में सर्वप्रथम स्थान रहा है। राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन ने 19 नवंबर, 1792 को न्यूबरी पोर्ट के बेंजामिन जॉय को कोलकाता में पहला अमेरिकी कांसुल नामांकित किया था। सेक्रेटरी ऑफ स्टेट थॉमस जैफरसन जो बाद में अमेरिका के तीसरे राष्ट्रपति बने, उनके परामर्श और सीनेट की सहमति से राष्ट्रपति वाशिंगटन ने 21 नवंबर, 1792 में जॉय को अधिकृत किया। हालांकि जॉय कोलकाता अप्रैल 1794 में कोलकाता पहुंचे। उन्हें ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने कांसुल के रूप में कभी मान्यता नहीं दी, लेकिन उन्हें ‘‘इस देश के नागरिक और आपराधिक अधिकार क्षेत्र के अधीन कमर्शियल एजेंट के रूप में यहां रहने की अनुमति प्राप्त थी…।’’

इस अशुभ शुरुआत के बावजूद, बेंजामिन जॉय का आगमन कोलकाता – और वास्तव में संपूर्ण भारत के साथ लंबे आधिकारिक अमेरिकी संबंध का आरंभ था।